प्राचीन भारत का इतिहास – सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी 121-140

0 6

प्राचीन भारत का इतिहास – सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

121.

कादम्बरी किसने लिखी?

[A] चाणक्य

[B] अश्वघोष

[C] बाणभट्ट

[D] चरक

Correct Answer: C [बाणभट्ट]

Notes:

कादम्बरी की रचना बाणभट्ट ने की। बाणभट्ट हर्षवर्धन के दरबारी कवि थे। इसके अलावा उसने हर्षचरित की रचना की।

122.

हर्षवर्धन का दूसरा नाम क्या था?

[A] शिलादित्य

[B] हर्षादित्य

[C] भास्करवर्मन

[D] विष्णुवर्मन

Correct Answer: A [शिलादित्य]

Notes:

हर्षवर्धन वर्धन वंश या पुष्यभूति वंश का राजा था। उसने 606 ई से 647 ई तक राज्य किया। उसका दूसरा नाम शिलादित्य भी था।

123.

हर्षवर्धन द्वारा लिखे गए नाटक हैं?

[A] नागनाद

[B] रत्नावली

[C] प्रियदर्शिका

[D] उपर्युक्त सभी

Correct Answer: D [उपर्युक्त सभी]

Notes:

हर्षवर्धन, वर्धन वंश का राजा था जो प्रभाकरवर्धन का पुत्र था। उसने 606 ई से 647 ई तक राज्य किया। उसके तीन प्रमुख नाटक नागनाद, रत्नावली और प्रियदर्शिका हैं।

124.

हर्षवर्धन के समय कौन सा चीनी यात्री भारत आया?

[A] फाह्यान

[B] ह्वेनसांग

[C] मेगस्थनीज

[D] डेमोट्र्स

Correct Answer: B [ह्वेनसांग]

Notes:

ह्वेनसांग एक चीनी यात्री था जो हर्ष के समय भारत आया। वो यहाँ गौतम बुद्ध की शिक्षाओं का अध्ययन करने के लिए आया था। उसने नालंदा विश्वविद्यालय में पहले छात्र फिर शिक्षक के रूप में कार्य किया।

125.

हर्षवर्धन को किस राजा ने हराया?

[A] पुलिकेशन II

[B] नरसिंहवर्मन I

[C] महेन्द्रवर्मन

[D] विष्णुवर्धन

Correct Answer: A [पुलिकेशन II]

Notes:

हर्षवर्धन ने समस्त उत्तर भारत जीत लिया। इसके बाद उसने दक्षिण की ओर कूच किया जहाँ उसका चालुक्य सम्राट पुलिकेशन II से युद्ध हुआ किंतु हर्ष इस युद्ध में पराजित हो गया और उसकी हाथी सेना का  बहुत नुकसान हुआ।

126.

हर्षवर्धन के समय चीन का सम्राट कौन था?

[A] तेजोंग

[B] वू जेतियान

[C] रुइजोंग

[D] ग्वांजोंग

Correct Answer: A [तेजोंग]

Notes:

हर्षवर्धन के समय चीन का सम्राट तेजोंग था। हर्षवर्धन ने 641 ई में तेजोंग के दरबार में एक दूत भेजा था।

127.

हर्षवर्धन के समय कन्नौज सभा किस मत के प्रचार के लिए हुई थी?

[A] महायान

[B] हीनयान

[C] थरवेद

[D] जैन

Correct Answer: A [महायान]

Notes:

हर्षवर्धन बौध्द धर्म का महायान मतानुयायी था। हर्षवर्धन के समय 643 ई में कन्नौज में सभा हुई थी जिसका उद्देश्य महायान का प्रचार करना था। हालांकि हर्षवर्धन एक सहिष्णु सम्राट था और वो हिंदू,  जैन और बौद्ध सभी धर्म का आदर करता था।

128.

‘नागनाद’ की रचना किसने की?

[A] हर्षवर्धन

[B] ह्वेनसांग

[C] कालिदास

[D] भैरवि

Correct Answer: A [हर्षवर्धन]

Notes:

नागनाद नामक प्रसिद्ध पुस्तक की रचना हर्षवर्धन ने की। हर्षवर्धन वर्धन वंश का राजा था जिसने 606 ई से 647 ई तक राज्य किया। हर्ष स्वयं एक विद्वान व्यक्ति था। नागनाद बौध्द धर्म में काफी प्रसिद्ध है।

129.

आयहोल अभिलेख किसने लिखा?

[A] रविकीर्ति

[B] फाह्यान

[C] ह्वेनसांग

[D] हरिषेण

Correct Answer: A [रविकीर्ति]

Notes:

आयहोल अभिलेख वातापी के राजा पुलिकेशन II ने बनवाया। वह जैन मतानुयायी था। उसने 610 ई से 642 ई तक राज्य किया। इस अभिलेख को रविकीर्ति ने लिखा। यह संस्कृत भाषा में था जिसमें कन्नड़ भाषा भी है। इसमें कालिदास और भैरवि का भी जिक्र है।

130.

चालुक्य वंश की स्थापना किसने की?

[A] पुलिकेशन II

[B] पुलिकेशन I

[C] विष्णुवर्धन

[D] कीर्तिवर्धन

Correct Answer: B [पुलिकेशन I]

Notes:

वातापी के चालुक्य वंश की स्थापना पुलिकेशन I ने की और वातापी (आधुनिक बादामी) को अपनी राजधानी बनाया।

131.

किस पल्लव राजा ने पुलिकेशन II को हराकर वातापी (बादामी) पर अधिकार कर लिया?

[A] नरसिंहवर्मन I

[B] महेन्द्रवर्मन I

[C] महेन्द्रवर्मन II

[D] कीर्तिवर्मन

Correct Answer: A [नरसिंहवर्मन I]

Notes:

नरसिंहवर्मन पल्लव वंशी राजा थे। उन्होंने पुलिकेशन II को हराया और बादामी पर अधिकार कर लिया तथा राजधानी को 13 वर्षों तक अपने अधिकार में रखा।

132.

किस चालुक्य राजा ने वेंगी में राजधानी बनाई?

[A] विष्णुवर्धन

[B] पुलिकेशन II

[C] पुलिकेशन I

[D] यशोवर्मन

Correct Answer: A [विष्णुवर्धन]

Notes:

विष्णुवर्धन पुलिकेशन II का पुत्र था। उसने अपनी राजधानी वेंगी में बनाई। ऐतिहासिक तथ्यों के अनुसार पुलिकेशन II को पल्लव वंशी राजा नरसिंहवर्मन ने हराया और उसकी राजधानी पर अधिकार कर लिया।

133.

निम्नलिखित चालुक्य राजा में से किसने फारसी राजा खुसरू द्वितीय को एक राजदूत भेजा?

[A] पुलिकेशन I

[B] पुलिकेशन II

[C] कीर्तिवर्मन I

[D] विष्णुवर्धन

Correct Answer: B [पुलिकेशन II]

Notes:

पुलिकेशन II चालुक्य राजा था जिसने खुसरो द्वितीय के दरबार में एक राजदूत भेजा तथा खुसरो द्वितीय ने भी एक राजदूत पुलिकेशन II के दरबार में भेजा।

134.

बादामी के चालुक्यों का राज्यकाल क्या था?

[A] 500 से 550 ई

[B] 550 से 650 ई

[C] 543 से 757 ई

[D] 545 से 700 ई

Correct Answer: C [543 से 757 ई]

Notes:

बादामी के चालुक्य कर्नाटक में राज्य करते थे। इसकी राजधानी वातापी थी।इन्होंने 543 से 757 ई तक राज्य किया।

135.

महाबलीपुरम के शोर मंदिर का निर्माण किसने कराया?

[A] नरसिंहवर्मन II

[B] नंदिवर्मन II

[C] अपराजिता

[D] महेन्द्रवर्मन I

Correct Answer: A [नरसिंहवर्मन II]

Notes:

महाबलीपुरम के शोर मन्दिर का निर्माण नरसिंहवर्मन II ने कराया। नरसिंहवर्मन II पल्लव वंश का राजा था जिसने पुलिकेशन II को हराया था।

136.

कांची का प्रसिध्द बैकुंठ पेरुमल मंदिर किसने बनवाया?

[A] नंदिवर्मन II

[B] अपराजिता

[C] महेन्द्रवर्मन II

[D] विक्रमदित्त II

Correct Answer: C [महेन्द्रवर्मन II]

Notes:

बैकुंठ पेरुमल का मंदिर कांची में है।इसका निर्माण महेन्द्रवर्मन II ने कराया। यह भगवान विष्णु को समर्पित है। इसमें 1000 स्तंभों पर टिका हुआ एक हॉल है।

137.

किरातार्जुनीय की रचना किसने की?

[A] भैरवि

[B] कालिदास

[C] कल्हण

[D] वराहमिहिर

Correct Answer: A [भैरवि]

Notes:

किरातार्जुनीय एक प्रसिध्द संस्कृत नाटक है। किरातार्जुनीय की रचना 7वीं सदी में भैरवि ने की।

138.

दक्षकुमारचरितम की रचना किसने की?

[A] दण्डिन

[B] भैरवि

[C] कालिदास

[D] इनमें से कोई नहीं

Correct Answer: A [दण्डिन]

Notes:

दक्षकुमारचरितम की रचना दण्डिन ने की।

139.

निम्नलिखित पल्लव राजा में से किसने प्रसिद्ध नाटक ‘मत्तविलास प्रहसन’ लिखा था?

[A] महेन्द्रवर्मन I

[B] महेन्द्रवर्मन II

[C] नरसिंहवर्मन II

[D] पुलिकेशन II

Correct Answer: A [महेन्द्रवर्मन I]

Notes:

मत्तविलास प्रहसन एक प्राचीन संस्कृत एकांकी नाटक है। इसकी रचना प्रसिध्द पल्लव राजा महेन्द्रवर्मन I ने की।

140.

दक्षकुमारचरितम की रचना किसने की और रचयिता किसके दरबारी कवि थे?

[A] दण्डिन, नंदिवर्मन II

[B] भैरवि, नंदिवर्मन II

[C] अप्पर, दण्डिवर्मन I

[D] भैरवि, नरसिंहवर्मन I

Correct Answer: A [दण्डिन, नंदिवर्मन II]

Notes:

दक्षकुमारचरितम की रचना दण्डिन ने की जो नंदिवर्मन II के दरबारी कवि थे।भाड़वी और दंडिन, क्रमशः किर्तनुंजियाम और दशकोंमचरिथम के लेखक, पल्लव अदालत में रहते थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More