लोगों के सामने अपनी अच्छी पहचान कैसे बनाएं (Personality Development Kaise Kare)

लोगों के सामने अपनी अच्छी पहचान कैसे बनाएं (Personality Development Kaise Kare)


अपनी पहचान बनाने की इच्छा या Personality Development करने में एक महत्वपूर्ण बात, जो कि लोगों को कार्य करने के लिए प्रेरित करता है । चाहे वह अच्छी और बुरी क्यों ना हो ? वह है, विशेष बनने की इच्छा और अपनी अलग पहचान बनाने की इच्छा। हम यहाँ पर Personality Development और “अपनी पहचान कैसे बनायें ” के बारे में बताने वाले हैं।


अपनी पहचान कैसे बनाएं (Apni Personality Development Kaise Kare)

लोगों के सामने , अपनी अच्छी पहचान बनाने के लिए कई बार हम गलत तरीके आजमाते हैं। जैसा कि, हम अपने ही बारे में राग अलापते रहते हैं । जब हम अपने ही बारे में बात करते हैं। लोग हमें धीरे-धीरे अनसुना और नापसंद करने लगते हैं। ऐसे में लोगों के सामने, हम अपनी अच्छी पहचान लंबे समय तक नहीं बना सकते सकते हैं । यह बात अलग है कि, हम उन्हें भय, लोभ, लालच दिखाकर अपने पास तो कर लेते हैं । लेकिन, यही बाद में हमारे पीठ पीछे गालियां देने में भी नहीं चूकते हैं।


तो ऐसे में हमें क्या किया जाए?


यदि हमको मानव संबंधों में निपुण होना है। तो, लोगों को महत्व देने का पक्का ध्यान रखना चाहिए । हमें याद रखना चाहिए कि, जितनी अधिक विशेषता लोगों को देंगे। उतना ही अधिक ध्यान वह हमको भी देंगे। हर व्यक्ति अपने आप को एक व्यक्ति विशेष की तरह व्यवहार चाहता है । वह अपनी इमेज को लेकर बहुत गंभीर होता है।

कोई भी व्यक्ति, तुच्छ व्यक्ति के साथ किया जाने वाला व्यवहार अपने साथ नहीं चाहता। जब लोगों को नकारा जाता है, या उसके बारे में छोटी बातें की जाती है। तो, उसके साथ किया गया व्यवहार वैसा ही होता है। ध्यान रखें, दूसरे आदमी के लिए वह स्वयं ही उतना ही विशेष है। जितना कि आप अपने लिए। इसके लिए, हमें लोगों को पहचानने और उनको विशेष दर्जे का आभास कराने के लिए कुछ ठोस उपाय किया जाना चाहिए।

उन्हें सुने –

लोगों की बात सुनने से मना कर देना उन्हें विशेषता न देने का एक सबसे पक्का उपाय होता है ।इससे वह अपने को तुच्छ व्यक्ति मानने लगता है । अतः उन्हें सुनना ही उनकी विशेषता का एहसास दिलाने का सर्वश्रेष्ठ तरीका है।

उनकी प्रशंसा और अभिनंदन करें –

हमें लोगों की प्रशंसा और अभिनंदन करना चाहिए जब भी वे उनकी योग्य हैं । ऐसा नहीं कि, उनके किसी भी बात को लेकर के हम उनकी प्रशंसा करें । नहीं तो, वही व्यक्ति हमें बाद में चापलूस व्यक्ति समझने लगेगा।

ज्यादा से ज्यादा बार उनके नाम और तस्वीरों का प्रयोग करें –

लोगों को उनके नाम से पुकारे। इससे आप उन्हें महत्वपूर्ण होने का आभास दिला सकते हैं ।

उनके सवालों के जवाब देने से पहले थोड़ा सा विराम दें-

इससे उन्हें आभास होगा कि आपने उनके कथन पर विचार किया है। और यह कि, उनके द्वारा कही गई बात विचार करने योग्य थी।

आपके इंतजार में बैठे व्यक्ति को जानकारी दें कि आप को इस बात का एहसास है –

अगर उन्हें और इंतजार करना हो , तो आप उन्हें सूचना दे दें । आपको मालूम है कि ,वह लोग आपका इंतजार कर रहे हैं। यह उनसे व्यक्ति विशेष की तरह व्यवहार करना है ।

लोगों के समूह में भी सभी लोगों की तरफ ध्यान दें-

केवल नेता या प्रवक्ता की ओर नहीं, एक समूह में एक से अधिक लोग होते हैं। तो हमें सब की तरह ध्यान देकर बातचीत करनी चाहिए।

स्रोत: कला लोक व्यवहार की – लेस गिबलिन

Get real time updates directly on you device, subscribe now.